15 August Speech in Hindi – Independence Day पर देशभक्ति हिंदी भाषण

0
132
15 August Speech in Hindi – Independence Day Speech 15 अगस्त पर देशभक्ति हिंदी भाषण
15 August Speech in Hindi – Independence Day Speech 15 अगस्त पर देशभक्ति हिंदी भाषण

15 August Speech

अगर आप अपने स्कूल एवम कॉलेज में Independence Day Speech (स्वतंत्रता दिवस पर भाषण) बोलना चाहते हो तो इस लेख में आपको Best 15 August Speech in Hindi मिलेगी जिसको आप अपने भाषण में इस्तेमाल कर सको.
भारत का स्वतंत्रता दिवस पंद्रह अगस्त को मनाया जाता है| इस दिन सन् 1947 को हमारा भारत देश अंग्रेजो के चंगुल से आजाद हुआ था| आजादी की ख़ुशी के अवसर पर हम 15 अगस्त अर्थात स्वतंत्रता दिवस मनाते है..15 अगस्त वो दिन है जिसका इंतजार सबको रहता है। चाहे बच्चे हों या छात्र या बड़े लोग पर 15 अगस्त को सब लोग मिलझुलकर मनाते हैं। साथ ही 15 अगस्त पर अपने विचार और 15 अगस्त जैसे मौके पर कुछ न कुछ जरूर बोलना चाहते हैं। स्वतंत्रता दिवस पर स्कूलों, कॉलेजों के बच्चों और शिक्षकों के लिए भाषण(Speech)। परीक्षा में भी Students इससे मदद ले सकते हैं।

सबसे पहले मै आप सभी को सादर आमंत्रित करता हूँ| आप सभी अपना कीमती समय लेकर यहाँ आये इस स्वतंत्रता दिवस के पर्व को मनाने के लिए और मै आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक बधाई देता हूँ.

आजादी का क्या मतलब है?
आजादी कहने को सिर्फ एक शब्द है लेकिन इसकी भव्यता को कोई भी शब्दों में नही बांध सकता.
आजादी का अर्थ है – विकास के पथ पर आगे बढकर देश और समाज को ऐसी दिशा देना, जिससे हमारे देश की संस्कृति की सोंधी खुशबू चारों और फ़ैल सके.

हम लोग इस त्यौहार को मनाने के लिए आज बहुत उत्साह के साथ एकत्रित हुए है | हम लोगो को हिन्दुस्तानी होने पर गर्व होना चाहिए और हम जानते है की हम लोगो को हिन्दुस्तानी होने पर बहुत गर्व महसूस करते होंगे. हमारी आजादी के लिए तिलक ने “स्वराज्य हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है” का सिंहनाद किया. भगतसिंह ने देशभक्ति की जो लो पैदा की वह अद्भुत है.वे भारत को धमकी देने वाली आतंकवादी ताकतों से हमें सुरक्षित रखते हैं।अब हमें दोबारा मिल कर अपने देश को इन बेकार वस्तुओ से दुरी करे एव एक विकसित, स्वच्छ, और सफल राष्ट्र बनाना होगा। हमेंबेरोजगारी गरीब, प्रदुषण,अशिक्षा, असमानता, जाती-भेदभाव, ग्लोबल वार्मिंग इन समानताओ को समझना होगा और इनका उपाय निकलना भी होगा।

15 अगस्त 1947 को आज से 71वर्ष पूर्व भारत अपने पार्थिव धरातल से उठकर आज के ही दिन भगवान भास्कर के चरणों का स्पर्श किया था|आइए हम अपने सैनिकों से प्रेरित हों और हमारे देश को रहने के लिए एक बेहतर जगह बनाने के लिए मिलकर काम करें। कोई भी देश सही नहीं है, और हमारी भी कमियां हैं। इस स्वतंत्रता दिवस 2018 पर, हम अपने देश को महान बनाने के लिए नागरिकों के रूप में अपना काम करने का वचन देते हैं।

मैं एक बार फिर आपको अपने भाषण को ध्यान से सुनने के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं और मुझे आप सभी के सामने अपनी बात रखने के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं। और आपको भी बात करने का मौका देना चाहता हूं। जय हिन्द! वन्दे मातरम!”

15 August Speech